Print

Sixteenth Loksabha

an>

Title: The Speaker made reference to the passing away of Shri N. Anbuchezhian, member, 4th Lok Sabha and Shri P.V. Rajeshwar Rao, member, 11th Lok Sabha.

 

माननीय अध्यक्ष : माननीय सदस्यगण, मुझे सभा को दो पूर्व सदस्यों, श्री एन. अन्बुचेईयन और श्री पी.वी. राजेश्वर राव के दुःखद निधन के बारे में सूचना देनी है।

          श्री एन. अन्बुचेईयन पूर्ववर्ती मद्रास राज्य, जो अब तमिलनाडु में है, के डिंडिगुल संसदीय निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हुए चौथी लोक सभा के सदस्य थे। वह वर्ष 1971 से वर्ष 1976 तक तमिलनाडु विधान सभा के सदस्य भी थे। एक सक्रिय सामाजिक और राजनैतिक कार्यकर्ता श्री अन्बुचेईयन ने गरीबों तथा वंचित लोगों के बीच शिक्षा को बढ़ावा देने का कार्य करते थे। उनका निधन तमिलनाडु के डिंडिगुल में 19 जुलाई, 2016 को 80 वर्ष की आयु में हुआ।

          श्री पी.वी. राजेश्वर राव आंध्र प्रदेश के सिकन्दराबाद संसदीय निर्वाचन क्षेत्र, जो अब तेलंगाना में है, उसका प्रतिनिधित्व करते हुए 11वीं लोक सभा के सदस्य थे। श्री राव 11वीं लोक सभा के दौरान मानव संसाधन विकास संबंधी समिति के सदस्य रहे। एक प्रति­िठत गायक के रूप में श्री राव को कई धार्मिक और देशभक्तिपूर्ण गीतों का श्रेय जाता है। श्री पी.वी. राजेश्वर राव का निधन हैदराबाद में 12 दिसम्बर, 2016 को 70 वर्ष की आयु में हुआ। हम अपने पूर्व साथियों की मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त करते हैं और यह सभा शोक-संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करती है।

          अब यह सभा दिवंगत आत्माओं के सम्मान में कुछ देर के लिए मौन रहेगी 

11.04 hours

 (The Members then stood in silence for a short while.)

 

 



श्री सुदीप बन्दोपाध्याय (कोलकाता उत्तर): मैडम, डिबेट शुरू करें।...(व्यवधान)

HON. SPEAKER: Q. No. 401.

… (Interruptions)

HON. SPEAKER: No, not now.

… (Interruptions)

HON. SPEAKER: After the Question Hour.

… (Interruptions)

माननीय अध्यक्ष : कृपया बैठ जाइए।

(व्यवधान)

माननीय अध्यक्ष : यह आप क्या कर रहे हैं?

…(व्यवधान)

माननीय अध्यक्ष : कागज रखिए।

…(व्यवधान)

HON. SPEAKER: No, do not show anything.

… (Interruptions)

HON. SPEAKER: This is not allowed.

… (Interruptions)

माननीय अध्यक्ष : आप बैठ जाइए। आप क्या कर रहे हैं?

…(व्यवधान)

माननीय अध्यक्ष : आप कागज मत लहराइए। ऐसा नहीं चलेगा।

…(व्यवधान)

माननीय अध्यक्ष : सदन में कोई भी कागज नहीं दिखा सकता है।

…(व्यवधान)

 


 

an>

Title: The Speaker made reference to the passing away of Shri N. Anbuchezhian, member, 4th Lok Sabha and Shri P.V. Rajeshwar Rao, member, 11th Lok Sabha.

 

माननीय अध्यक्ष : माननीय सदस्यगण, मुझे सभा को दो पूर्व सदस्यों, श्री एन. अन्बुचेईयन और श्री पी.वी. राजेश्वर राव के दुःखद निधन के बारे में सूचना देनी है।

          श्री एन. अन्बुचेईयन पूर्ववर्ती मद्रास राज्य, जो अब तमिलनाडु में है, के डिंडिगुल संसदीय निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व करते हुए चौथी लोक सभा के सदस्य थे। वह वर्ष 1971 से वर्ष 1976 तक तमिलनाडु विधान सभा के सदस्य भी थे। एक सक्रिय सामाजिक और राजनैतिक कार्यकर्ता श्री अन्बुचेईयन ने गरीबों तथा वंचित लोगों के बीच शिक्षा को बढ़ावा देने का कार्य करते थे। उनका निधन तमिलनाडु के डिंडिगुल में 19 जुलाई, 2016 को 80 वर्ष की आयु में हुआ।

          श्री पी.वी. राजेश्वर राव आंध्र प्रदेश के सिकन्दराबाद संसदीय निर्वाचन क्षेत्र, जो अब तेलंगाना में है, उसका प्रतिनिधित्व करते हुए 11वीं लोक सभा के सदस्य थे। श्री राव 11वीं लोक सभा के दौरान मानव संसाधन विकास संबंधी समिति के सदस्य रहे। एक प्रति­िठत गायक के रूप में श्री राव को कई धार्मिक और देशभक्तिपूर्ण गीतों का श्रेय जाता है। श्री पी.वी. राजेश्वर राव का निधन हैदराबाद में 12 दिसम्बर, 2016 को 70 वर्ष की आयु में हुआ। हम अपने पूर्व साथियों की मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त करते हैं और यह सभा शोक-संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करती है।

          अब यह सभा दिवंगत आत्माओं के सम्मान में कुछ देर के लिए मौन रहेगी 

11.04 hours

 (The Members then stood in silence for a short while.)

 

 



श्री सुदीप बन्दोपाध्याय (कोलकाता उत्तर): मैडम, डिबेट शुरू करें।...(व्यवधान)

HON. SPEAKER: Q. No. 401.

… (Interruptions)

HON. SPEAKER: No, not now.

… (Interruptions)

HON. SPEAKER: After the Question Hour.

… (Interruptions)

माननीय अध्यक्ष : कृपया बैठ जाइए।

(व्यवधान)

माननीय अध्यक्ष : यह आप क्या कर रहे हैं?

…(व्यवधान)

माननीय अध्यक्ष : कागज रखिए।

…(व्यवधान)

HON. SPEAKER: No, do not show anything.

… (Interruptions)

HON. SPEAKER: This is not allowed.

… (Interruptions)

माननीय अध्यक्ष : आप बैठ जाइए। आप क्या कर रहे हैं?

…(व्यवधान)

माननीय अध्यक्ष : आप कागज मत लहराइए। ऐसा नहीं चलेगा।

…(व्यवधान)

माननीय अध्यक्ष : सदन में कोई भी कागज नहीं दिखा सकता है।

…(व्यवधान)

 


 

Developed and Hosted by National Informatics Centre (NIC)
Content on this website is published, managed & maintained by Software Unit, Computer (HW & SW) Management. Branch, Lok Sabha Secretariat